Home News Point मां बोली के प्रसार में महत्वपूर्ण हो सकती है माँ की भूमिका : मिंटू बराड़*

मां बोली के प्रसार में महत्वपूर्ण हो सकती है माँ की भूमिका : मिंटू बराड़*

6 second read
0
0
48

पंजाबी सत्कार सभा के समारोह में संगीतमई गीतों- कविताओं ने मन मोहा

सिरसा। प्रवासी पंजाबी लेखक मिंटू बराड़ का कहना है कि पंजाबी भाषा, सभ्याचार, साहित्य और विरासत को अगली पीड़ी तक पहुंचाना और अपनी पहचान को कायम रखना वैसे तो हर पंजाबी की जिम्मेदारी है लेकिन पंजाबी मायें इस मिशन में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती हैं। सिरसा के गांव देसु में जन्मे और ऑस्ट्रेलिया में जा बसे मिंटू बराड़ पंजाबी सत्कार सभा द्वारा स्थनीय श्री युवक साहित्य सदन में आयोजित रूबरू कार्यक्रम में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि अपनी मां बोली से ही कोई भी व्यक्ति अपने भावों की सही अभिव्यक्ति कर सकता है इस लिए सरकारों और लोगों को इनके विकास के प्रति गंभीर प्रयास करने चाहिए। मिंटू बराड़ ने आस्ट्रिलिया में अपने निवास और पाकिस्तान में अपने हाल ही के प्रवास के अनेक संस्मरण भी उपस्तिथजनों से सांझे किये।

समरोह में पंजाबी गीत-कविताओं का संगीत से सजी प्रस्तुतियों का उपस्थितजनों ने भरपूर आनंद उठाया। डबवाली की वंदना वाणी, रसदीप सिंह गिल, जसदीप सिंह गिल, मास्टर कुलदीप, हीरा सिंह, अमरजीत सिंह संधू और हरगोबिंद सिंह सिधु ने अपनी प्रस्तुतियों से दर्शकों का मन मोह लिए। इस अवसर पर प्रख्यात रंगकर्मी संजीव शाद ने सामजिक जीवन के अनेक पहलुओं को चित्रित करती काव्य रचनओं की प्रस्तुति देते हुए मेला लूटा। समरोह में हरगोबिंद सिंह सिधु की काव्य पुस्तक ‘मोमबत्तियां’ का लोकार्पण किया गया और इस पुस्तक की समीक्षा वरिष्ठ पत्रकार लेखक भूपिंदर पन्नीवालिया द्वारा की गई। समरोह में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे वरिष्ठ पत्रकार गुरजीत मान ने कहा कि सिरसा के अनेक लोगों ने अपनी भाषा, संस्कृति और विरासत के लिए आजीवन काम किया है इस लिए हमारा भी फ़र्ज़ बनता है कि हम उनके काम को आगे बढ़ाते हुए इस खजाने की अमीरी को बढ़ाएं। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डॉ शेर चंद ने समरोह की प्रस्तुतियों पर टिप्पणी करते हुए सभा के प्रयास को सार्थक बताया और इसे आगे बढाने पर बल दिया।

इससे पहले सभा के प्रधान प्रदीप सचदेवा ने समरोह में पहुंचे अतिथियों और श्रोताओं का स्वागत करते हुए सभा द्वारा पिछले एक दशक से की जा रही गतिविधियों की जानकारी दी और उपस्थितजनों से इस मिशन में हरसंभव सहयोग करने का आह्वान किया।

कार्यक्रम का सफल मंच सञ्चालन सभा के साहितियक विंग के प्रधान सुरजीत सिरड़ी ने किया जबकि महासचिव सुखदेव ढिल्लों ने सबके प्रति आभार व्यक्त किया।

Kइस समारोह में प्रभु दयाल, मंजीत सिंह सेठी, गुरप्रीत सिंह सिंधरा, छिन्दर पाल कौर, अवी संधू, नवदीप धूड़िया, वरुण छाबड़ा, परमाननद शास्त्री, लखविंदर सिंह ओळख, रूप देवगुन, डॉ शील कौशल, वीरेंदर कुमार एडवोकेट, रमेश शास्त्री, सुभाष चन्दर चुघ, परमिंदर सिंह गोल्डी, सुरेश मित्तल, बलविंदर कौर, गुरलाल भंगू सहित अनेक पंजाबी प्रेमी और वशिष्ठजन शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

एचपीएस सीनियर सेकन्डेरी स्कूल में अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर “युवा देश के युवा की दश और दिशा” विषय पर आयोजित गोष्ठी

किसी भी देश की अ&#…